IVF से पहले क्या करें

इन वर्टो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) में प्रजनन उपचार की प्रक्रिया की एक श्रृंखला शामिल है जो आपको गर्भ धारण करने में मदद करती है। आईवीएफ की पूरी प्रक्रिया शुरू करने से पहले आपको उसी क्षेत्र के विशेषज्ञ से परामर्श करना चाहिए। अपने डॉक्टर से पूछकर अपने सभी संदेह को साफ़ करें ताकि आप सहज और आश्वस्त हो सकें। आपको आईवीएफ से पहले क्या करना चाहिए, इसके विभिन्न तथ्यों से अच्छी तरह अवगत होना चाहिए। इसके अलावा, इसके जोखिम के बारे में जानकारी प्राप्त करें और अपने साथी के साथ-साथ बीपी, मधुमेह और अन्य संक्रामक रोगों की पूरी जाँच करें। आईवीएफ शुरू होने से पहले अच्छी तरह से तैयार होना महत्वपूर्ण है।

कूप को परिपक्व होने में लगभग 3 महीने या उससे अधिक समय लगता है और यह आपके अंडे की गुणवत्ता को प्रभावित करता है। आपको आईवीएफ शुरू होने से लगभग 3 महीने पहले अपनी तैयारी शुरू कर देनी चाहिए। आपके बच्चे का स्वस्थ विकास गर्भावस्था के दौरान आपके शरीर के वातावरण पर निर्भर करता है। आपको आईवीएफ से पहले निम्नलिखित बिंदुओं को ध्यान में रखना चाहिए।

1. आहार
सबसे पहले, आपको धूम्रपान और पीने की आदत छोड़ने की ज़रूरत है अपने भोजन में कैफीन का सेवन कम करने की कोशिश करें। उच्च गुणवत्ता वाले भोजन का उपभोग करें। गर्भ धारण करने की कोशिश करने से 3-6 महीने पहले पश्चिमी खाद्य पदार्थ खाने से बचें। भारतीय भोजन जो स्वाभाविक रूप से संतानों के लिये सबसे अच्छा भोजन माना जाता है क्योंकि उनमें प्रजनन सार होता है। इन खाद्य पदार्थों में से अंडे, साबुत अनाज, मछली, कच्चा दूध, गोजी बेरी, पराग, कैवियार, समुद्री शैवाल, शैवाल, कस्तूरी, सन बीज, और स्प्राउट्स हैं। इन सभी खाद्य पदार्थों को अपने आहार में बहुत बार शामिल करें।

2. व्यायाम करें
आईवीएफ के महीने बहुत तनावपूर्ण होते हैं, अपने आप को तनाव मुक्त और फिट रखने के लिए कुछ सामान्य और हल्के व्यायाम का प्रयास करें। आप फुटबाथ, स्नान, जर्नलिंग, एक्यूपंक्चर, मालिश चिकित्सा जैसे चीज़ें कर सकते हैं। अपने डॉक्टर से परामर्श करके कुछ हल्के योग का प्रयास करें। नियमित रूप से ध्यान करने के लिए कुछ समय निकालें।

3. नींद की गुणवत्ता और मात्रा में सुधार।
अच्छी नींद की अच्छी मात्रा न केवल आपको तनाव मुक्त कराती है बल्कि यह सेक्स हार्मोन, शुक्राणु उत्पादन और ओव्यूलेशन को भी प्रभावित करता है। नींद की एक दिनचर्या को बनाए रखने की कोशिश करें जिसमें एक निश्चित समय पर बिस्तर पर जाना और सुबह जागना शामिल है। अपने बेडरूम में इलेक्ट्रॉनिक मनोरंजन की वस्तुएं जैसे टीवी, फोन आदि न रखें। अपने बेडरूम को काम का माहौल न बनाएं, बल्कि जितना हो सके उतना सरल रखें।

4. रूटीन चेकअप।
आईवीएफ से पहले डॉक्टर द्वारा निर्धारित नियमित जांच में कोई भी चूक नहीं होना चाहिए। यह आपको न केवल मन की शांति देता है, बल्कि आपको किसी भी जटिलताओं के बारे में अच्छी तरह से सूचित करता है।

यहां सूचीबद्ध सभी बिंदुओं को ध्यान में रखते हुए आप यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि आपको आईवीएफ से पहले क्या करना है। यदि आप अभी भी असहज महसूस करते हैं या इसके बारे में कोई चिंता है तो कृपया हमसे संपर्क करने में संकोच न करें । आईवीएफ से पहले आपकी किसी भी तरह की चिंता से निपटने में आपकी सहायता करने में हमें खुशी होगी। हम आपको स्वस्थ और सुंदर बच्चे के लिए शुभकामनाएं देते हैं।

 

ABOUT US

Ayurvedic Treatment Centre – Dr. Rathi is Ayurvedic Clinic in Delhi Specializes in Ayurvedic Treatment, Infertility, Weight loss, Pain Management, Skin Diseases, Garbhsanskar Classes, Sleep Disorder, Menstural Disorders etc.

 

CONTACT US

  • RZ-B-42 Mahindra Park near, C-1, Pankha Rd, Janakpuri, Delhi
  • 9868282982, 9999856084
  • drnarendrarathi@gmail.com